21 जून कल लगेगा इस साल का पहला सूर्य ग्रहण जानें किन 12 कामों पर होगी पाबंदी आज ही लग जाएगा सूतक, पूरी खबर देखने के लिए यहां करें क्लिक 👇👇👇👇

देश

Chief: Rajendra Kumar
20 जून जालंधर (पत्रकार: शुभम रजक) साल का पहला सूर्य ग्रहण 21 जून 2020 को सुबह करीब 9 बजकर 15 से शुरू होगा. यह ग्रहण दोपहर 03 बजकर 04 मिनट तक रहने वाला है. ज्योतिर्विदों की मानें तक ग्रहण का सूतक काल 12 घंटे पहले यानी 20 जून को रात करीब 9 बजकर 25 मिनट से लगेगा. ग्रहण में सूतक काल काफी अहम माना जाता है.-सूतक काल के दौरान किसी भी तरह का नया काम या शुभ कार्य करने से परहेज करना चाहिए. घर मकान का निर्माण, वाहन की खरीदारी या शादी-विवाह की तैयारियों के बारे में ना सोचें.बालों पर कंघी करना, दांतून करना या नाखून काटना भी सूतक के दौरान अशुभ माना जाता है. इसलिए ग्रहण के दौरान ऐसा कोई काम ना करें.
-सूतक के दौरान आपको भगवान का ध्यान करना चाहिए इससे नकारात्मकता का आप पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता. इस समय आप धार्मिक पुस्तकों का भी अध्ययन कर सकते हैं.
-गर्भवती महिलाओं को ग्रहण की घटना को देखने से भी बचना चाहिए. हो सके तो ग्रहण के दौरान घर से बाहर न निकलें. अगर आप ग्रहण देखती हैं तो गर्भ में पल रहे बच्चे को शारीरिक या मानसिक परेशानियां हो सकती हैं.
-धार्मिक मान्यता के अनुसार, ग्रहण का सूतक लगने के बाद किसी गरीब या असहाय व्यक्ति का अपमान नहीं करना चाहिए. ऐसा करने से आप पाप के ज्यादा भागीदार बनते हैं.
-ग्रहण काल का सूतक लगने के बाद गर्भवती महिलाएं ग्रहण खत्म होने तक धातुओं से निर्मित वस्तुओं को न पहनें और न ही उनका प्रयोग करें.
-ग्रहण का सूतक काल लगने के बाद नुकीली चीजों का इस्तेमाल करना अशुभ माना जाता है. सूतक के दौरान कैंची, चाकू, कांटा या सुई जैसी धारदार और नुकीली चीजों का इस्तेमाल करने से बचें. आइए ज्योतिषों से जानते हैं कि ग्रहण का सूतक लगने के बाद कौन से काम वर्जित माने जाते हैं.गर्भवती महिलाओं को ग्रहण की घटना को देखने से भी बचना चाहिए. हो सके तो ग्रहण के दौरान घर से बाहर न निकलें. अगर आप ग्रहण देखती हैं तो गर्भ में पल रहे बच्चे को शारीरिक या मानसिक परेशानियां हो सकती हैं.
-धार्मिक मान्यता के अनुसार, ग्रहण का सूतक लगने के बाद किसी गरीब या असहाय व्यक्ति का अपमान नहीं करना चाहिए. ऐसा करने से आप पाप के ज्यादा भागीदार बनते हैं.
-ग्रहण काल का सूतक लगने के बाद गर्भवती महिलाएं ग्रहण खत्म होने तक धातुओं से निर्मित वस्तुओं को न पहनें और न ही उनका प्रयोग करें.
-इस दौरान गर्भवती महिलाओं को खाने में छोंक या तड़का भी नहीं लगाना चाहिए. खाने को जितना साधारण रख सकें उतना बेहतर होगा.
-सूतक काल लगने के बाद मांस-मछली, शराब या सिगरेट आदि का सेवन करने की भी मनाही होती है. सूतक लगने के बाद से ही इसका सख्त परहेज करना चाहिए.ग्रहण के दौरान किसी भी प्रकार के खाद्य पदार्थ का सेवन न करें. हालांकि ग्रहण के नियम का यह नियम बच्चों, बीमार लोगों और बुजुर्गों पर लागू नहीं होता.

 105 total views,  1 views today

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *