*विकास दुबे महाकाल से बचने की प्रार्थना करने के बाद भी काल के गले तक बड़े विकास दुबे की एनकाउंटर की कहानी ।*

अन्य खबर

Chief: Rajender Kumar
10 जुलाई कानपुर (पत्रकार: शुभम रजक) जानिए गैंगस्टर विकास दुबे की पूरी कहानी उत्तर प्रदेश के कानपुर में दो जुलाई को हुए गोलीकांड में आठ पुलिसवालों को मारने का आरोपी विकास दुबे मारा गया है. थी, जहां गाड़ी पलटने के बाद विकास ने भागने की कोशिश की. इसी दौरान एनकाउंटर हुआ और विकास दुबे मारा गया.गार्ड ने विकास दुबे को पकड़ा, इतनी ही देर में स्थानीय पुलिस और स्थानीय मीडिया भी आ गई. विकास दुबे यहां मंदिर के बाहर अपना नाम चिल्लाता रहा. जब पुलिस उसे गाड़ी में बैठा कर ले जा रही थी, तब गैंगस्टर चिल्लाया, ‘..मैं विकास दुबे हूं..कानपुर वाला…इन्होंने मुझे पकड़ लिया है’.
विकास दुबे को अज्ञात जगह पर ले जाया गया, वहां उससे पूछताछ हुई. उसने बताया कि वह कानपुर गोलीकांड के बाद पुलिसवालों की लाश को जलाना चाहता था. लेकिन वक्त नहीं मिला, चौबेपुर थाने के अलावा कुछ और थाने भी उसकी मदद कर रहे थे.गुरुवार सुबह ही विकास दुबे मध्य प्रदेश के उज्जैन में महाकाल मंदिर के बाहर पुलिस के सामने हाजिर हुआ था. तब पुलिस ने उसे हिरासत में लिया और पूछताछ शुरू कर दी थी. लेकिन 24 घंटे के भीतर ही विकास दुबे ढेर हो गया. महाकाल की शरण में जाने तक से अब मौत के घाट उतरने तक पिछले 24 घंटे में क्या हुआ, एक नज़र डालें…
विकास दुबे को आखिरी बार फरीदाबाद में देखा गया था, पुलिस उसे तलाश रही थी. इसी बीच गुरुवार की सुबह अचानक विकास दुबे मध्य प्रदेश के उज्जैन पहुंचा. यहां वो महाकाल मंदिर में दर्शन करने गया.शुक्रवार सुबह करीब साढ़े छह बजे यूपी एसटीएफ के काफिले के एक्सीडेंट की खबर आई. तेज रफ्तार गाड़ी अचानक पलट गई, जिसके बाद विकास दुबे ने वहां से भागने की कोशिश की. पुलिस के मुताबिक, विकास दुबे ने हथियार छीने और इस दौरान मुठभेड़ हुई और विकास दुबे मारा गया.सुबह करीब साढ़े सात बजे विकास दुबे महाकाल मंदिर गया, वहां उसने मंदिर में दर्शन किए. इसी दौरान किसी दुकान वाले ने उसे पहचाना और वहां गार्ड को सूचित किया.इधर लखनऊ में विकास दुबे की पत्नी को हिरासत में लिया गया, पूछताछ के लिए कानपुर लाया गया. शाम होते-होते यूपी एसटीएफ की टीम उज्जैन पहुंची और ट्रांजिट के लिए उसे कानपुर लाया गया. शाम को एसटीएफ की टीम कानपुर के लिए रवाना हुई.आपको बता दें कि कानपुर गोलीकांड में आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए थे, उस कांड में शामिल करीब विकास दुबे समेत 6 अपराधी अबतक एनकाउंटर में ढेर किए जा चुके हैं.

 140 total views,  1 views today

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *