अगर मंदिर में करने हैं दर्शन ।
करना होगा यह काम खबर~हिमाचल प्रदेश के लिए क्लिक करें

अन्य खबर

Chief Rajinder Kumar

15-September-2020

हिमाचल के प्रसिद्ध शक्तिपीठों के दर्शन करने के लिए बाहरी राज्यों से आने वाले श्रद्धालुओं को बड़ी राहत दी गई है। कोविड ई-पास वेबसाइट (https://covid19epass.hp.gov.in/applications/epass/apply) में हिमाचल आने वाले ऑप्शन में मंदिर विजिट का प्रावधान कर दिया गया है। मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं को पहले की तरह कोविड-19 ई-पास में जाकर हिमाचल आने की ऑप्शन को चुनना होगा। इसमें नाम, पता, गाड़ी नंबर, आधार कार्ड नंबर समेत अन्य डिटेल भरनी होगी।

टूरिज्म वाली ऑप्शन चुनकर टैंपल विजिट पर क्लिक करना होगा। जिस होटल में श्रद्धालुओं को दो दिन रुकना है, उस होटल का पूरा नाम पते के साथ भरना होगा। कोविड ई-पास के अंत में श्रद्धालु को कोरोना की निगेटिव रिपोर्ट के साथ अपने आधार कार्ड की कॉपी अपलोड करनी होगी। पंजीकरण के बाद श्रद्धालु को आईडी नंबर दिया जाएगा।

प्रशासन की तरफ से जांच के बाद ही श्रद्धालुओं के ये पास स्वीकृत किए जाएंगे। श्रद्धालु ऑनलाइन पास को मंदिर के सुरक्षा कर्मियों को दिखाकर दर्शन कर सकेंगे। वर्तमान में बाहरी राज्यों से आ रहे श्रद्धालुओं की मंदिर में मैनुअल कोविड-19 रिपोर्ट जांची जाती है। डीसी ऊना संदीप कुमार ने बताया कि कोविड ई-पास पर जाकर अन्य राज्यों के श्रद्धालु मंदिर दर्शन के लिए ऑनलाइन पंजीकरण करवा सकते हैं।

हिमाचल में आज से पैराग्लाइडिंग को भी मंजूरी

हिमाचल में साहसिक पर्यटन गतिविधि पैराग्लाइडिंग पर लगी रोक दो माह बाद बुधवार से हट रही है। अब कांगड़ा के बीड़-बिलिंग, मनाली के सोलंगनाला, चंबा के खज्जियार और धर्मशाला समेत प्रदेश के अन्य जिलों के पर्यटन क्षेत्रों में पैराग्लाइडिंग हो सकेगी। पर्यटन विभाग ने बरसात के चलते दो महीने तक पैराग्लाडिंग पर रोक लगाई थी। कोरोना काल में साहसिक खेल शुरू होने से पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा। प्रदेश के होटल पर्यटकों के लिए खोलने के बाद सैलानियों ने हिमाचल के पर्यटन स्थलों का रुख करना शुरू कर दिया है। पर्यटन नगरी खज्जियार में करीब 80 पैराग्लाडर पायलटों के पास लाइसेंस हैं।

 12 total views,  2 views today

Share this:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *